Tuesday, 17 December 2013

तू मुझसे ही दूर हुआ जाता है ..


मत  रह
इतना खामोश
कि मुझे
तेरे बुत होने का
गुमां हुआ जाता है...

नहीं होगी  अब
बुतपरस्ती मुझसे ,
इश्क में तेरे ,
अपना सर
पहले  ही झुका रखा है मैंने...

मत कर मुझसे
 इतनी मुहब्बत
कि मुझे
तेरा ,
मेरा  ख़ुदा होने का
गुमां हुआ जाता है...

 नहीं होगी अब
बंदगी मुझसे ,
मेरा ख़ुदा  बन कर
 तू
मुझसे ही दूर हुआ जाता है ..


( चित्र गूगल से साभार )









5 comments: