Monday, 22 December 2014

हायकू ..( पन्ने )

यादों से घिरे
पन्ने फड़फड़ाये
मन उदास


कोरे  कागज़
पर लिखी किस्मत
बांच ना पाऊँ


पृष्ठ पलटे
पुरानी डायरी के
मन मुस्काये



7 comments:

  1. बहुत सुन्दर हायकू.
    नई पोस्ट : कौन सी दस्तक

    ReplyDelete
  2. पन्ने फड़फड़ाये तो मन उदास ?
    पन्ने पलटें तो मन मुस्काए ! ...

    बहुत सुंदर प्रस्तुति !

    क्यों न फिर ....
    पलटें पन्नों को सिर्फ !

    शुभकामनायें .....

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर हायकू.

    ReplyDelete
  4. सुन्दर रचना.

    नूतन वर्ष की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं

    अनिल साहू

    ReplyDelete
  5. कोरे कागज़
    पर लिखी किस्मत
    बांच ना पाऊँ
    बहुत सुन्दर हायकू.

    ReplyDelete