Monday, 11 November 2013

जब तुम मुझसे जुदा हुए थे ....

जब तुम मुझसे जुदा हुए थे
तब मैं उदास मुख और 

भरी आँखों से
तुम्हे जाते हुए 

ठीक से न देख पाई,
और ना ही मुस्कुरा पाई थी ...


सोचती हूँ लेकिन 

 अब भी जब तुम मिलोगे 
मुझे कभी जब भी 
तो मैं 
तुम्हें क्या ठीक से देख भी पाउंगी
और मुस्कुरा भी तो कहाँ  पाऊँगी
क्यूँ कि 

अब तो 
लगा है आँखों पर चश्मा
और मुहं में नकली दांत ...


( चित्र गूगल से साभार )