Monday, 7 May 2012

मुझे तुम याद आये


तुम्हारा नाम भूलने की
 बहुत सी वजह है मेरे पास 
पर जब -जब तुम्हारे 
शहर का नाम आया तो
मुझे तुम याद आये ...
तुम्हारा भी नाम भी
अपनी जुबां पर ना लाने
की बहुत सी वजह है
मेरे पास, पर जब-जब
तुम्हारा गाया गीत
गुनगुनाया तो मुझे
तुम याद आये ...
तुम्हारे वजूद को भूलने
की बहुत सी वजह है मेरे
पास पर जब-जब आईना
निहारा आँखों में तुम नज़र
आये तो मुझे तुम
बहुत याद आये ..............