Tuesday, 10 April 2012

अब हमें ना पाओगे

देखो अब जो रुठोगे 
तो हम न मनायेगें 
जहाँ जाना है जाओ 
हम न पुकारेंगे तुम्हें .........
थक गए हम भी 
पीछे -पीछे चलते ,
अब साथ चलना
है तुम्हारे .........
अब हमें इतना भी ना
आजमाओ ........
कभी मुड कर देखोगे
तो हमें ना पाओगे .......