Thursday, 17 June 2021

तुमने कहा था

तुमने कहा था
एक दिन
मुझे अपने दिल में 
 रखना

अगर न रख सको
जीवन की तंग, 
संकरी गलियों में, 

क्या तुम ज्योतिषी हो
या
हो भविष्य वक्ता ... 

तुम्हारा स्थान 
सच में ही है, 
दिल के तिकोने वाले
हिस्से में.. 

कितना अच्छा हुआ न
तुमने जो चाहा था
वही मिल गया

जीवन की तंग,
अकेलेपन की संकरी गली
मुझे मुबारक .. 



1 comment: